BREAK NEWS

Solar Plant : भारतीय रेलवे अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की दौड़ में शामिल

Solar Plant : भारतीय रेलवे अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की दौड़ में शामिल

 बीना सोलर प्लांट अंतरराष्ट्रीय सस्टेनेबल रेलवे अवॉर्ड के दौड़ में शामिल

इटारसी/भोपाल। ग्रीन सोलर एनर्जी (Green Solar Energy) की पहल को भारतीय रेलवे (Indian Railway) में पर्यावरण संरक्षण के लिए सराहनीय कदम उठाए जा रहे हैं। पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन सोलर एनर्जी की पहल पर पश्चिम मध्य रेल (West Central Railway), भोपाल मण्डल (Bhopal Division) में भी अनेक कार्य किये जा रहे हैं।बीना सोलर प्लांट (Bina Solar Plant) को और उससे संबंधित मिशन विद्युतीकरण को प्रमुख वैश्विक पुरस्कारों की दौड़ में शामिल कर लिया गया है। यह पश्चिम मध्य रेलवे के लिए ही नहीं बल्कि संपूर्ण भारतीय रेल के लिए गौरव की बात है। उल्लेखनीय है कि विभिन्न देशों की रेलवे से जुड़ी पेरिस (Paris) में स्थित यूआईसी (UIC) यानी ‘इंटरनेशनल यूनियन ऑफ रेलवे’ (‘International Union of Railways’) एक अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त संस्था है, जो सस्टेनेबल रेलवे अवार्ड्स ( Sustainable Railway Awards) प्रदान करती है। अंतरराष्ट्रीय स्तर के पुरस्कारों का चयन यूआइसी के सस्टेनेबल डेवेलपमेंट के प्रमुख ऑस्ट्रेलिया (Australia) के भूतपूर्व फेडरेल चांसलर (Federal Chancellor) के अलावा विभिन्न क्षेत्रों की जानी मानी हस्तियां तथा रेलवे से जुड़े विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ पुरस्कारों के चयन की जूरी (Jury) में शामिल होते हैं। पुरस्कार वितरण समारोह आगामी माह जून 2022 में बर्लिन में होना प्रस्तावित है।
उल्लेखनीय है कि यूआइसी इंटरनेशनल नाम की संस्था रेलवे सेक्टर में अंर्तराष्ट्रीय स्तर के कई पुरस्कार प्रदान करती है। इसके अंतर्गत इन्नोवेशन इन मोबिलिटी दैट डेलीवर्स सोशल (पीपुल) (Innovation in Mobility that Delivers Social (People)), इनवायरमेंटल (प्लेनेट) एवं इकॉनामी (प्रोस्पेरिटी) (Environmental (Planet) and Economy (Prosperity)) के प्रत्येक कैटेगरी (Category) में तीन अवार्ड्स प्रदान किया जाता है। इसी कड़ी में भारतीय रेलवे को प्लेनेट कैटेगरी (Planet Category) की बेस्ट यूज़ ऑफ जीरो कार्बन टेक्नोलॉजी (Best use of zero carbon technology) के अंतर्गत पश्चिम मध्य रेल, भोपाल मण्डल के बीना में सौर ऊर्जा (सोलर एनर्जी) से 25 एसी ट्रैक्शन सिस्टम (AC traction system) को सीधे फ़ीड करने वाले भारतीय रेलवे मिशन विद्युतीकरण को पुरस्कारों की दौड़ में शामिल किया गया है।

बीना में स्थापित सोलर प्लांट की विशेषताएं (Features of Solar Plant)

– 1.7 मेगावॉट सोलर पॉवर प्लांट की क्षमता में 5800 सोलर मॉड्यूल है।
– 1015 पाइल फाउंडेशन का उपयोग करके मॉड्यूल माउंटिंग स्ट्रक्चर के 145 सेटों पर माउन्ट लगाए गए है।
– 400 वोल्ट एल्टरनेटिव करेंट (एसी) को स्टेपप कर 25 किवी एसी में दो ट्रैक्शन ट्रांसफार्मर के द्वारा फीड किया जाता है।
– अंडर ग्राउंड ट्रांसमिशन केबल के द्वारा 25 किवी एसी ट्रैक्शन सब सेक्शन और ओएचई में सप्लाई करती है।

इनका कहना है…
इस उपलब्धि के लिए मुख्यालय के प्रमुख मुख्य विभागाध्यक्ष एवं मण्डल रेल प्रबंधक भोपाल सहित वरिष्ठ अधिकारियों/कर्मचारियों की टीम वर्क काफी सराहनीय है।
सुधीर कुमार गुप्ता, महाप्रबंधक पमरे

CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a web developer who is working as a freelancer. I am living in Saigon, a crowded city of Vietnam. I am promoting for http://sneeit.com

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!