BREAK NEWS

झरोखा : प्रगति पथ पर बढ़ता अपना ह्रदय प्रदेश

झरोखा : प्रगति पथ पर बढ़ता अपना ह्रदय प्रदेश

* राजधानी से पंकज पटेरिया :
देश का हृदय स्थल अपना मध्य प्रदेश ६६ साल पूरे कर ६७वे वासंती सोपान पर नई ऊर्जा, उमंग, उत्साह के साथ अपने पैर मजबूती से रख कर १ नवंबर की ओस नहाई सुबह से सुप्रभातम बोलते हुए अभिवादन कर रहा है। 67 वा साल जीवन में उत्तरार्ध कहा जाता है लेकिन जोश खरोश से भरा अपना मध्यप्रदेश पूरी तरह नौजवान सा दमखम लिए हर चुनौती से सामना करने के लिए ताल ठोक ता नजर आ रहा है। जाहिर है इसके लिए तारीफ के फूल उन नायकों के नाम पर उछालना चाहिए जिन्होंने इसका नेतृत्व किया। खासतौर से मौजूदा वक्त में कई तरह की चुनौतियां और कठोर हालातों का सामना करते हुए इसकी देख संभाल कर इससे जिस तरह से सभा रा गया है, वह यकीनन सर्वत्र सराहनीय है। जनता जनार्दन की कर्म निष्ठा समर्पण भी प्रशंसनीय रहा है इसकी वजह से आज अपने मध्यप्रदेश ने राष्ट्र में अपनी अलहदा सुनहरी पहचान कायम की है। साहित्य, कला, चिकित्सा, तकनीक जैसे ऐसे अनेक क्षेत्र हैं जिसमें सूबे की विशिष्ट पहचान बनी है।
राष्ट्र का नेतृत्व और उनके अधीन प्रदेश के नेतृत्व में सदैव गतिशीलता का परिचय देकर इस सूबे को बेहतर से बेहतर की ओर ले जाने में कोई कोर कसर नहीं रखी है। यह अभिनंदन है। इसका श्रेय बेशक उन रहवासियों को भी जाता है, जिन्होंने भीषण आपदाओं के दिनों में भी अपने हौसले को बनाए रखा और हमारे रहनुमाओं ने भी हमारे गिरते मनोबल को स्नेह संबल दिया, गिरने नहीं दिया। नतिजतन हम उन काले अंधेरों की सल्तनत का सफाया कर आज प्रकाश पर्व नित्य मना रहे हैं।
जाहिर है हमारे मुखिया ने उन बहुत कड़वे दिनों में एक आभा व्रत रचा सबका हौसला बढ़ाया। दीप से लेकर घंटी, ध्वनि तक ऐसा जगमग ध्वनिमय परवेश रचा की चतुर्दिक जीवन उल्लास से भरा आगे बढ़ता हुआ आगे बढ़ रहा है। आज हमारे सुबे में सिंहनाद है, चीता सा चातुर्य है, ध्वजा से खड़े आसमान से बातें करते दरख़्तों को दुलारते दो बलिष्ठ भाई से विंध्याचल और सतपुड़ा पर्वत और इनके बीच सतत प्रवाह वाहन निर्मल पुण्य सलिला मां नर्मदा है। संभवत प्रकृति ने यह संपदा हमें औरों से कम नहीं दी है। अब जरूरत है इसे संभालने और एक कुशल व्यवसाई ही की तरह इसकी समृद्धि में श्री वृद्धि करते रहने की।
और कीर्ति शेष कवि राजेंद्र अनुरागी की इन पंक्तियों को सार्थक करते रहने की।
आज मेरा देश सारा लाम पर है, जो जहां है वतन के काम पर है। नर्मदे हर जय मध्य प्रदेश


पंकज पटेरिया
पत्रकार साहित्यकार
ज्योतिष सलाहकार
भोपाल
9340244352 ,9407505651

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!