एमजीएम कालेज में विद्यार्थियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया

एमजीएम कालेज में विद्यार्थियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया

इटारसी। शासकीय महात्मा गांधी स्मृति स्नातकोत्तर महाविद्यालय(Government Mahatma Gandhi Memorial Post Graduate College) में विश्व उद्यमिता दिवस पर स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ (Swami Vivekananda Career Guidance Cell) एवं वाणिज्य विभाग के संयुक्त तत्वावधान में कार्यक्रम हुआ। अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. राकेश मेहता (Principal Dr. Rakesh Mehta) ने की। व्याख्यान शासकीय कन्या महाविद्यालय, इटारसी के वाणिज्य विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. हर्षा शर्मा (Dr. Harsha Sharma) तथा मधुमक्खी पालन के उद्यमी मृत्युंजय रॉय (Mrityunjay Roy) ने प्रस्तुत किया।

अध्यक्षीय उद्बोधन में प्राचार्य डॉ. मेहता ने उद्यमिता दिवस पालन करने के उद्देश्य को समझाते हुए कहा कि यह विद्यार्थियों में स्वरोजगार के प्रति आकर्षण पैदा करना, आत्मनिर्भर भारत में इसके महत्व का एहसास कराना एवं स्टार्टअप का निर्माण करना बताया। उन्होंने इंफोसिस कम्पनी के अध्यक्ष नारायण मूर्ति (Narayan Murthy) के संघर्षमय उद्यमी जीवन पर प्रकाश डाला। डॉ. हर्षा शर्मा ने विद्यार्थियों से कहा कि उद्यमी बनने के लिए किताबी ज्ञान से बाहर आकर अपने वातावरण एवं साथियों से व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त करना अत्यंत आवश्यक है। एक सफल उद्यमी में ज्ञान के साथ-साथ सामथ्र्य, कुशलता, परिश्रम आवश्यक है।

मधुमक्खी पालन उद्यमी मृत्युंजय रॉय ने मधुमक्खी पालन पर वैज्ञानिक तरीके से शहद उत्पादन कर जीविकोपार्जन करने की विधि पावरपॉइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से बतायी। संचालन डॉ. पीके अग्रवाल ने किया। कार्यक्रम में प्राध्यापक डॉ. रश्मि तिवारी, सह प्राध्यापक डॉ. अर्चना शर्मा, वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. जेपी चौरे, सहायक प्राध्यापक सुरेश गुप्ता, डॉ. एकता मालोनिया, ओएस यादव, श्रीमती भारती चौधरी, श्रीमती मोनिका साहू, डॉ. बस्सा सत्यानारायण, डॉ. दिनेश कुमार, अमित चौरे, कार्तिकेय पटेल, प्रो. डॉ. एम.व्ही. कनकराज, डॉ. व्हीके. कृष्णा, प्रो. सूसन मनोहर, डॉ. संतोष अहिरवार, डॉ. आशुतोष मालवीय, श्रीमती मीरा यादव, डॉ. दुर्गेश लसगरिया एवं बड़ी संख्या में स्टाफ तथा विद्यार्थी उपस्थित थे।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!