राज्य स्तरीय अंतर्जिला सीनियर हॉकी प्रतियोगिता

राज्य स्तरीय अंतर्जिला सीनियर हॉकी प्रतियोगिता

मंदसौर, इंदौर, गुना, शाजापुर और उमरिया ने जीते मैच

– बारिश ने डाला हॉकी के रोमांच में खलल

– दो घंटे रुका मैच, केवल पांच मैच हो सके

– बुधवार को केवल तीन मैच खेले जाएंगे
– विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा रहेंगे उपस्थित

इटारसी। हॉकी होशंगाबाद (Hockey Hoshangabad) के तत्वावधान में गांधी मैदान पर खेली जा रही राज्य स्तरीय अंतर्जिला हॉकी प्रतियोगिता (State level intravenous hockey tournament) में मंगलवार को बारिश की बाधा के बावजूद पांच मैच खेले गये। आज मंदसौर, इंदौर, गुना, शाजापुर और उमरिया ने मैच जीतकर अगले दौर में प्रवेश किया। पहला मैच जबलपुर और मंदसौर के बीच खेला गया जो मंदसौर ने 2-0 से जीता। दूसरा मैच इंदौर ने शानदार प्रदर्शन कर शिवपुरी से 7-0 से जीता। तीसरे मैच में गुना ने सागर को 2-1 गोल से हराया। चौथा मैच 2-0 से शाजापुर ने छिंदवाड़ा को हराकर जीता तो पांचवे अंतिम मैच मेंउमरिया ने हरदा को 2-1 से हराया।
आज प्रतियोगिता के दौरान बारिश ने करीब दो घंटे खेल नहीं होने दिया। जिस वक्त बारिश हुई, गुना और सागर के मध्य खेल आधा हो चुका था। करीब दो घंटे मैच रुका रहा। बारिश थमने के बाद आयोजन समिति के सदस्यों ने मैदान को दोबारा खेलने के लिए तैयार किया। मध्यांतर के बाद गुना की टीम ने सागर को परास्त कर दिया। बारिश थमने के बाद जिस तेजी से आयोजन समिति ने वरिष्ठ खिलाड़ियोंके मार्गदर्शन में मैदान को दोबार खेलने के लिए तैयार किया उसकी सभी ने तारीफ की।

बुधवार को होंगे तीन मैच
बुधवार को प्रतियोगिता में तीन मैच खेले जाएंगे। पहला मैच सुबह 11 बजे से बालाघाट और ग्वालियर के मध्य खेला जाएगा। विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma) बुधवार को गांधी मैदान पर मैच देखने आएंगे। वे मुख्य अतिथि रहेंगे। दूसरा मैच दोपहर 2 बजे से धार और शाजापुर के मध्य खेला जाएगा। तीसरा और अंतिम मैच टीकमगढ़ और मंदसौर के बीच खेला जाएगा। राज्य स्तरीय हॉकी प्रतियोगिता रोमांचक दौर में पहुंच चुकी है। बुधवार के मुकाबले बेहद रोमांचक होंगे। मंदसौर, बालाघाट, ग्वालियर और शाजपुर की टीमों ने काफी प्रभावित किया है।

हॉकी की दीवानगी इकबाल भाई को मैदान में खींच लायी

पीपल मोहल्ला के इकबाल कुरैशी का उम्र करीब 70 वर्ष है। हॉकी की दीवानगी इतनी है कि एक बीमारी के बाद चलने में तकलीफ होने के बावजूद वे मैच देखने आये। उनके पुत्र इरफान कुरैशी उनको कार से मैदान तक लाये और वे व्हीलचेयर पर बैठकर करीब दो घंटे मैच देखते रहे। जब उनसे बात की गई कि आपको परेशानी होने के बावजूद आप मैदान पर मैच देखने आए, उनका जवाब था कि हॉकी की दीवानगी उनको यहां खींच लायी। इटारसी के बच्चों को आगे बढ़ाने में यहां के वरिष्ठ खिलाड़ी काफी मेहनत कर रहे हैं, यही कारण है कि यहां के बच्चे काफी आगे बढ़े हैं।

जूनियर इंडिया खेले हैं हर्षदीप

इंदौर टीम के हर्षदीप पहली बार इटारसी खेलने आये हैं। वे 2016 में जूनियर इंडिया की टीम में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। इसके अलावा एशिया कप, 2020 में कंबाइन यूनिवर्सिटी भी खेले हैं। एस्ट्रोटर्फ और चट ग्राउंड पर हॉकी में अंतर पूछने पर उन्होंने बताया कि यहां स्टॉपिंग के अलावा बॉडी के साथ गेंद पर नियंत्रण मुश्किल होता है। उन्होंने बताया कि भोपाल एकेडमी में जब वे थे, 2018-19 में इटारसी के वरिष्ठ खिलाड़ी दीप सिंह ठाकुर उनको कोचिंग दे चुके हैं। हर्षदीप को इटारसी में प्लेयर्स को मिलने वाला सम्मान बेहद प्रभावित कर गया, वे यहां बार-बार खेलना पसंद करेंगे।

 

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW