BREAK NEWS

सुखतवा ब्रिज बंद : ट्रक वाले भड़के, न खाना मिल रहा है और ना पीने को पानी

सुखतवा ब्रिज बंद : ट्रक वाले भड़के, न खाना मिल रहा है और ना पीने को पानी

इटारसी। जिला प्रशासन (District Administration) ने सुखतवा ब्रिज (Sukhtawa Bridge) से आवागमन बंद कर दिया है, कई ट्रक और अन्य वाहन चालक ब्रिज के दोनों तरफ फंस गये हैं, वे भड़क गये हैं कि उनको निकलने दिया जाए, क्योंकि यहां उनको न तो खाना मिल पा रहा है और ना ही पीने के लिए पानी। पुल पर करीब एक फीट पानी है, इसलिए उनको निकलने दिया जाये। वे केसला थाने पहुंच रहे हैं, कुछ स्थानीय लोगों का भी उनको साथ मिल गया है, संभवत: पुलिस (Police) से बात करके कुछ समाधान निकालने के प्रयास किये जाएंगे।
बीती रात से कुछ स्थानीय लोगों के कहने पर ट्रक चालक (Truck Driver) भड़क गये हैं। उनका कहना है कि वे इतनी दूर आकर वापस लौटेंगे तो उनको बड़ा आर्थिक भार उठाना पड़ेगा। पुल पर पानी कम है, बहाव भी तेज नहीं है, अत: उनको निकलने दिया जाये। वे कल दिनभर से यहां खड़े हैं, न तो ठीक से खाना मिला और ना ही यहां पीने के लिए पानी मिल पा रहा है। कल रात को थाना प्रभारी गौरव सिंह बुंदेला ने पहुंचकर उनको समझाया कि यह आदेश उच्च स्तर के हैं, वे इसमें कुछ नहीं कर सकते। रात में ट्रक चालक तो मान गये, लेकिन कुछ स्थानीय लोगों ने सुबह फिर उनको भड़का दिया। सुबह से ट्रक चालक फिर आंदोलित हो रहे हैं।

मुनादी के बावजूद हो रही राजनीति

बताया जाता है कि पुलिस ने पुल के दोनों ओर कल ही मुनादी करा दी है कि यह ब्रिज अब आवागमन के लिए बंद कर दिया है, जो लोग भी यहां आये हैं, वे वापस चले जाएं और वैकल्पिक रास्ते को अपनायें, यहां रहकर समय खराब न करें। बावजूद इसके कुछ स्थानीय लोगों ने उनको भड़का दिया है। अब पुलिस के अधिकारी उच्च अधिकारियों से बात कर रहे हैं, हो सकता है कि भड़काने वालों से लिखित में लिया जाएगा कि किसी प्रकार की दुर्घटना होती है तो उसके जिम्मेदार वे स्वयं रहेंगे। इस लिखित स्वीकृति के बाद संभवत: फंसे हुए वाहनों को निकाला जाए। फिलहाल स्थिति स्पष्ट नहीं है।

मिट्टी डालने की तैयारी

बारिश में ब्रिज बंद होने पर केसला थाने का स्टाफ यहां राउंड द क्लाक ड्यूटी करता है ताकि ब्रिज पर से कोई निकले नहीं। ऐसे में पुलिस का स्टाफ फंसा रहता है। अब प्रशासन पुल के दोनों तरफ मिट्टी डालकर रास्ते को पूरी तरह से बंद करने के मूड में है, ताकि यहां से कोई निकल ही न सके। एनएचएआई को कहा जा रहा है कि पुल के दोनों ओर मिट्टी डाल दी जाए ताकि वाहनों का आना जाना बंद हो और पुलिस को यहां लगातार ड्यूटी करने से राहत मिल सके।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!