मंडी में रहेगा दस दिन का अवकाश, बड़ी मात्रा में धान और मक्का की आवक

मंडी में रहेगा दस दिन का अवकाश, बड़ी मात्रा में धान और मक्का की आवक

  • – हर रोज 35 से 40 क्विवंटल तक आवक हो रही है
  • – कृषि मंडी परिसर में हो रही है ट्रॉलियों की भरमार

इटारसी। कृषि उपज मंडी परिसर (Agricultural produce market complex) में इन दिनों बड़ी संख्या में किसान धान (paddy) और मक्का (maize) लेकर पहुंच रहे हैं। सारा दिन मंडी परिसर में ट्रालियों (trolleys)से किसान पहुंच रहे हैं। देर शाम तक मंडी में काम चल रहा है। धान के अलावा मक्का सबसे अधिक आ रहा है। जहां पहले मक्का तीन हजार ट्राली आता था, अब दस हजार तक आ रहा है। दीपावली पर्व (Diwali festival) को देखते हुए किसान अपनी फसल जल्द से जल्द बेचना चाहता है, यही कारण है कि मंडी परिसर में हर रोज 35 से 40 हजार क्विंटल की आवक हो रही है।

दस दिन के लिए बंद हो जाएगी मंडी

कृषि उपज मंडी में दस दिन का अवकाश रहेगा। 10 नवंबर धनतेरस (Dhanteras) से मंडी बंद रहेगी और 19 नवंबर तक लगातार दस दिन तक यहां कारोबार नहीं होगा। इसके पीछे दीवाली पर्व के अलावा कर्मचारियों का चुनाव ड्यूटी में जाना बताया जा रहा है। सामने दीवाली पर्व और चुनाव के कारण मंडी दस दिन के लिए बंद हो जाने की खबर के बाद किसान जल्द से जल्द अपनी उपज बेचना चाहता है और यही कारण है कि यहां बड़ी संख्या में किसान ट्रॉलियों से अपनी उपज लेकर पहुंच रहे हैं।

धान और मक्का सबसे अधिक

मंडी में धान और मक्के की उपज सबसे अधिक लायी जा रही है। कृषि मंडी अधिकारियों के मुताबिक धान चार हजार और मक्का 21 सौ तक बिका है। मक्का और धान मिलाकर हर रोज 35 से 40 क्विंटल दोनों अनाज पहुंच रहा है। ऐसे में मंडी परिसर में नीलामी की भरपूर व्यवस्था की गई है। हालांकि अचानक आवक बढऩे से कुछ परेशानियां भी आ रही हैं, लेकिन इतनी अधिक नहीं कि कोई असंतोष उपजे। मंडी का स्टाफ भी प्रयास कर रहा है कि जल्द से जल्द किसानों की उपज बिके और सभी दीवाली मना सकें।

इनका कहना है….

मंडी में धान और मक्के की सबसे अधिक आवक है। आज 35 हजार क्विंटल से अधिक की आवक है। 10 नवंबर से दस दिन का अवकाश रहेगा, अत: प्रयास है कि अधिक से अधिक किसानों का अनाज खरीदा जाए, इसके लिए देर तक काम किया जा रहा है।

केसी बामलिया, प्रभारी सचिव

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!