देर रात तक कवियों ने बांधा समां, श्रोताओं को किया भाव विभोर

देर रात तक कवियों ने बांधा समां, श्रोताओं को किया भाव विभोर

नर्मदापुरम। कवि पं. भवानी प्रसाद मिश्र की जन्मभूमि टिगरिया में आयोजित कवि सम्मेलन में विभिन्न अंचलों से आये कवियों ने समा बांध दिया।

मां नर्मदा के घाट पर रेवा की कल-कल धारा के साथ कवियों ने रामकथा के अवसर पर कवि सम्मेलन जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि सुधीर पटेल के मुख्यातिथ्य एवं जनपद अध्यक्ष भूपेन्द्र चौकसे की अध्यक्षता में हुआ। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि जिला पंचायत सदस्य शिवा राजपूत, जनपद सदस्य यशवंत गौर, सरपंच श्रीमती लक्ष्मी गौर उपस्थित रहे।
मंच संचालक कौशल सक्सेना के संचालन मं हास्य कवि मुकेश शांडिल्य, कवयित्री नमृता श्रीवास्तव, युवा कवि विजय गिरी, दिनेश याज्ञनिक और हरीश पांडे ने शानदार काव्य पाठ किया।

कवि सम्मेलन देर रात तक जारी रहा देश के विभिन्न अंचलों से आये 8 कवियों ने हजारों श्रोताओं को अपनी कविता, गीत, गजल, ओज, हास्य, व्यंग्य की रचनाओं से भाव विभोर कर दिया। इस मौके पर साहित्यकारों, पत्रकारों का शॉल श्रीफल से सम्मान किया। सरस्वती पूजन कर कार्यक्रम प्रारंभ हुआ अतिथियों एंव कवियों का स्वागत कार्यक्रम संयोजक कमलेश गोस्वामी ने फूल मालाओं से किया।

सरस्वती वंदना भोपाल से आई नमृता श्रीवास्तव की प्रस्तुति से कवि सम्मेलन प्रारंभ हुआ। भोपाल से आये विजय बारुद, इटारसी के डॉ. सतीश शमी की रचनाओं पर श्रोताओं ने खूब ताली बजायीं। देर रात तक श्रोताओं को खूब गुदगुदाया। संचालन विनय गौर एवं आभार प्रदर्शन सुदीप पटैल ने दिया।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!