पर्यटन की दृष्टि से समृद्ध है नर्मदापुरम जिला, जानिये क्या है यहां

पर्यटन की दृष्टि से समृद्ध है नर्मदापुरम जिला, जानिये क्या है यहां

नर्मदापुरम। विंध्याचल और सतपुड़ा के मध्य कल-कल स्वर में बहती मां नर्मदा के तटीय क्षेत्र में प्रकृति प्रदत्त जैव विवधता, ऐतिहासिकता व आध्यात्मिकता से सराबोर स्थान आकर्षण के केंद्र हैं, जो पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं। चाहे मां नर्मदा का पावन तट हो, नर्मदांचल की प्राकृतिक सौंदर्यता हो, दूर-दूर तक फैली पर्वत श्रृंखला हो, हरे-भरे घने जंगल हों। इस क्षेत्र की सांस्कृतिक व धार्मिक विशेषताओं की समृद्ध विरासत के कारण देश-विदेश से निरंतर सैलानी, पयर्टक, तथा बड़ी संख्या में श्रद्धालु खिंचे चले आते हैं।
क्षेत्र की महत्ता को नर्मदापुरम जिले के कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने बारीकी से ध्यान देते हुए एक जिला एक उत्पाद के रूप में जिले को एक नई पहचान दिलाने व पर्यटन को बढ़ावा देने बखूबी सार्थक प्रयास किए हैं, जिसके सुखद परिणाम भी सामने आते जा रहे हैं। 52 सप्ताह 52 एवेंट के माध्यम से पर्यटन के क्षेत्र में नर्मदापुरम जिले को नई पहचान मिली है। जिले की सांस्कृतिक गरिमा बनाए रखने नर्मदा तट के पर्यटन घाट का चयन कर वहां पर अभिव्यक्ति मंच से क्षेत्र की प्रतिभाओं को मंचीय सुविधाएं प्रदान की जा रहीं हैं जिससे कि उनकी प्रतिभा को निखारने के लिए सुअवसर दिए जा रहे हैं। विभिन्न अवसरों पर नन्हें-मुन्ने बच्चे, युवा, महिलाओं तथा वरिष्ठ नागरिकों की प्रतिभाओं को अभिव्यक्त करने का पूरा मौका दिया जाता है। फिर चाहे विश्व पर्यटन दिवस, अंतर्राष्टीय योग दिवस, हिल स्टेशन पचमढ़ी के कार्यक्रम हों, प्राकृतिक सौंदर्यता से परिपूर्ण मढ़ई के कार्यक्रम हों, रेवा तट पर हरे-भरे हर्बल पार्क में विभिन्न आयोजन कराए जाने के पीछे भी जिला प्रशासन की यही सकारात्मक मंशा रही है कि पर्यटन के क्षेत्र में नर्मदापुरम जिले को और अग्रसर किया जाए।

साइकिलिंग एक्सपेडिसन का रोमांच

देश के विभिन्न प्रांतों से आए प्रतिभागियों ने साइकिलिंग का लुफ्त उठाया है। यह मौका पर्यटकों को मढ़ई तथा साइकिलिंग एक्सपीडिशन में मिला है। मप्र पर्यटन बोर्ड तथा जिप्सी एडवेंचर पचमढ़ी द्वारा जिला प्रशासन के सहयोग सतपुड़ा टाईगर रिजर्, तवा डेम पर्यटन क्षेत्र ईको तथा एडवेंचर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मढ़ई से तवा साईकिल एक्सपीडिसन आयोजित किया गया था। जिसका पर्यटकों को एक अच्छा अनुभव मिला।

परसा पानी में बोटिंग का आनंद और जंगल सफारी

देश के प्रसिद्ध वनांचल सतपुड़ा टाईगर रिजर्व अपने आप में एक बड़ा पर्यटन स्थल है। यहां की हरी-भरी वादियां सैलानियों को आकर्षित करती हैं वन्यप्राणियों का खजाना तो है ही साथ ही जंगल के राजा बाघ के दीदार यदाकदा होते रहना आम बात है। यहां पर आने वाले पर्यटकों के लिए तमाम सुविधा बढ़ती जा रही हैं तवा से परसापानी तक वोटिंग की सुविधा होने से पर्यटन के क्षेत्र में चार चांद लग गए हैं। यहां पर डे आई लैंड टूर के आनंद से पर्यटकों को अलग ही रोमांच का अनुभव हो रहा हैं। यहां के चूला चौखा आई लैंड प्रमुख आकर्षण का केंद्र बन गया है। पर्यटक टापू पर लैंडिंग के साथ स्पीशीज की वर्डस और सनसेट के मनमोहक नजारे से रूबरू होने का अलग ही आनंद है।

अभिव्यक्ति मंच पर निखर रही प्रतिभाएं

पर्यटन घाट पर अभिव्यक्ति मंच से प्रतिभाओं को अवसर देने का सिलसिला अनेक माहों से जारी हुआ जो समय-समय पर गतिमान है। तमाम कार्यक्रमों के जरिए, गीत संगीत, काव्य पाठ के क्षेत्र में उभरती प्रतिभाओं को मंच उपलब्ध कराया जाता है। जहां कई कलाकारों, नवोदित कवियों, गीतकारों और वरिष्ठ नागरिकों ने अपनी प्रस्तुति रंगारंग प्रस्तुति से हजारों दर्शकों को भाव विभोर किया है।

हर्बल पार्क में बर्ड वाचिंग का लुफ्त

नर्मदा के तट पर स्थित हर्बल पार्क में प्रशासन की पहल पर स्कूली बच्चों और पक्षी प्रेमियों ने वर्ड वाचिंग का लुत्फ उठाया है। स्वयं कलेक्टर श्री सिंह और जिला पंचायत के सीईओ मनोज सरियाम ने भी बच्चों के साथ वर्ड वाचिंग की। इसके पीछे कलेक्टर श्री सिंह की यह सोच रही है कि बच्चों को ईको सिस्टम में विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों के बारे में तथा प्रकृति के संरक्षण के प्रति भी जागरूक हों। बच्चों को 34 प्रकार के पक्षियों के दीदार हुए जिससे वे भाव विभोर हुए।

प्रदेश के सर्वाच्च शिखर पर योग साधना

आठवे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रदेश के सर्वाच्च शिखर व जिले की सुप्रसिद्ध पर्यटन स्थल पचमढ़ी की सबसे ऊंची पहाड़ी धूपगढ़ सहित, वायसन लाज, मढ़ई, इटारसी के पास स्थित धार्मिक व ऐतिहासिक स्थल तिलक सिंदूर के साथ ही नर्मदा तट के प्रसिद्ध सेठानी घाट पर योग साधना के सामूहिक आयोजन हुए। जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने योग साधना की जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिला।

मानसून मैराथन ने मनमोहा

सतपुड़ा की रानी पचमढ़ी में हर घर तिरंगा अभियान के दौरान पचमढ़ी वासी, जिले के अनेक निवासी, और दूर दराज क्षेत्र से आए पर्यटकों ने देश भक्ति के कार्यक्रम तिरंगा अभियान की थीम पर मानसून मैराथन ने दर्शकों का मन मोह लिया। देश के विभिन्न राज्यों से आए 1000 हजार से ज्यादा धावकों ने हाथ में तिरंगा लेकर दौड़ लगाई। इस कार्यक्रम में बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक उत्साह से शामिल हुए।

एक क्लिक पर मिलेगी पर्यटन की जानकारी

नर्मदांचल के पर्यटन के बारे में जानने के लिए एक कदम और आगे बढ़ाते हुए ‘सतपुड़ा टूरिज्म एपÓ लांच किया गया है। इससे सैलानी कहीं से भी एक क्लिक पर जिले के सभी टूरिज्म स्पाट्स, रूकने के स्थान सहित संपूर्ण जानकारी हासिल कर सकते हैं। जिला प्रशासन द्वारा पर्यटन के उत्थान के लिए किए गए प्रयास में ‘सतपुड़ा टूरिज्म एपÓ पर्यटकों के लिए बहुउपयोगी सिद्ध होगा।

फिल्मी दुनिया को भी भाया नर्मदापुरम

फिल्म टूरिज्म के हिसाब से भी नर्मदापुरम अछूता नहीं रहा है। इस क्षेत्र में फिल्मी दुनिया के अनेक बड़े फिल्म निर्माता आ चुके हैं। अनेक फिल्मों की शूटिंग के लिए यह क्षेत्र सुहावना मन भावना लगा है। तभी तो बेवसीरीज महारानी टू की अधिकांश शूटिंग नर्मदापुरम में हुई है। फिल्म निर्माण के लिए अनूकूल माहौल उपलब्ध कराया। बेव सीरीज निर्मल पाठक की घर वापसी की शूटिंग भी जिले के ग्रामीण अंचल में हुई है।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!