भिरंगी-पलासनेर स्टेशनों पर अत्याधुनिक इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम

भिरंगी-पलासनेर स्टेशनों पर अत्याधुनिक इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम

ट्रैक की गति क्षमता बढ़ेगी, टाइम की बचत होगी
इटारसी। खंडवा-इटारसी रेलमार्ग (Khandwa-Itarsi Railroad) पर भिरंगी (Bhirangi) और पलासनेर (Palasner) रेलवे स्टेशनों (Railway Stations) पर अधोसंरचना विकास (Infrastructure Development), ट्रैक की गति क्षमता (Track Speed ​​Capacity), ट्रेन गति (Train Speed) बढ़ाने की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य किया गया है। भिरंगी एवं पलासनेर स्टेशनों पर अत्याधुनिक इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम (Electronic Interlocking System) को सफलतापूर्वक कमीशन (Commissioning) किया गया।
मंडल रेल प्रबंधक सौरभ बंदोपाध्याय (Divisional Railway Manager Saurabh Bandopadhyay) के मार्गदर्शन में मंडल रेल प्रशासन अधोसंरचना का विकास, ट्रैक (Track) की गति क्षमता एवं ट्रेन की गति बढ़ाने की दिशा में लगातार प्रयत्नशील है। ट्रैक की गति क्षमता को बढ़ाने आज 08 जुलाई 2022 को भिरंगी एवं पलासनेर स्टेशनों पर मौजूदा पैनल इंटरलॉकिंग (Panel Interlocking) को दोहरी वीडीयू ( VDU) सुविधा के प्रावधान के साथ माइक्रोलॉक मेक (Microlock Make) के अत्याधुनिक इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग सिस्टम में परिवर्तित कर सफलतापूर्वक कमीशन किया। इस कार्य में भिरंगी स्टेशन पर 32 रूट, 14 प्वाइंट मशीन (Point Machine), 12 सिग्नल (12 Signal) एवं 5 शंट सिग्नल उपलब्ध कराए गए हैं तथा पलासनेर स्टेशन पर 9 रूट, 2 पॉइंट मशीन एवं 8 सिग्नल का प्रावधान किया है।
इस कार्य के दौरान भिरंगी-पलासनेर खंड में सी-क्लास स्टेशन (C-Class Station) मसनगांव (Masangaon) को भी सफलतापूर्वक आईबीएस (IBS) में परिवर्तित किया गया है। रिडंडेंसी (Redundancy) प्राप्त करने के उद्देश्य से ड्यूल डिटेक्शन (Dual Detection) का प्रावधान किया गया है जो कि भिरंगी से आईबीएस एवं आईबीएस से पलासनेर स्टेशन के मध्य उपलब्ध कराया गया है। आईबीएस के प्रावधान से अनुभागीय क्षमता में वृद्धि होने के साथ ट्रेन की गति बढ़ेगी, इससे खंड में रेल यात्रा का समय की बचत होगी।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!