BREAK NEWS

News Updates: ऐसे मिली बम की सूचना, फिर इस तरह चला तलाशी अभियान

News Updates: ऐसे मिली बम की सूचना, फिर इस तरह चला तलाशी अभियान

बम की खबर अफवाह, मुस्तैदी से जांच, तसल्ली होने पर ट्रेन रवाना

इटारसी। जयपुर (Jaipur) से सिकंदराबाद (Secunderabad)  जाने वाली 19713 सिकंदराबाद एक्सप्रेस के स्लीपर (Sleeper) और एसी कोच (AC Coach) में बम (Bomb) होने की सूचना वाली तीन पर्चियां मिलने से हड़कंप मच गया था, सुरक्षा एजेंसियों ने किसी प्रकार की कोताही न करके मुस्तैदी से ट्रेन की हरेक बोगी की जांच की और पूरी तरह से तसल्ली होने के बाद ही ट्रेन को यहां से आगे के लिए रवाना किया।
उल्लेखनीय है कि आज मंडीदीप (Mandideep)-भोपाल (Bhopal) के बीच जयपुर-सिकंद्राबाद एक्सप्रेस ( Jaipur-Secunderabad Express) के एस-6 कोच में धमकी भरी पर्ची मिली थी, जिसके बाद कंट्रोल रूम (Control Room) तक संदेश पहुंचा। रेलवे कंट्रोल ने आरपीएफ ( RPF)-जीआरपी (GRP) को अलर्ट (Alert) किया।

पूरी ट्रेन खाली करायी

इटारसी में ट्रेन पहुंचने पर पुलिस ने पूरी ट्रेन को खाली करायी और फिर बम निरोधक दस्ते ने तलाशी ली, किसी तरह का विस्फोटक या बम न मिलने की तसल्ली के बाद 3:58 मिनट पर ट्रेन को यहां से रवाना किया गया। बम होने की खबर पर सुरक्षा एजेंसियों और यात्रियों की सांसें थम गई थीं। सुरक्षा जांच की वजह से तीन घंटे ट्रेन यहां खड़ी रही। रेलवे स्टेशन (Railway Station) के प्लेटफार्म (Platform) दो एवं तीन को पुलिस (Police) ने पूरी तरह खाली करा दिया था।

शौचालय के शीशे में लगी थी पर्चियां

एस-6 कोच के शौचालय में लगे शीशे पर दो पर्चियां मिली थीं, इस पर लिखा था कि ट्रेन में बम है, मेरे परिवार की जान खतरे में है, प्लीज हेल्प.. इसके अलावा एसी कोच की बर्थ पर एक महिला को भी इसी तरह की पर्ची मिली। सूचना पर ट्रेन के इटारसी आते ही पूरी ट्रेन खाली कराने के बाद यात्रियों को दूसरे प्लेटफार्म पर भेजा गया। पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरूकरन सिंह (Superintendent of Police Dr. Gurukaran Singh), एएसपी अवधेश प्रताप सिंह (ASP Awadhesh Pratap Singh), एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान (SDOP Mahendra Singh Chauhan), टीआइ रामसनेही चौहान (TI Ramsnehi Chauhan), आरपीएफ इंचार्ज देवेन्द्र कुमार (RPF Incharge Devendra Kumar) के साथ करीब 40 पुलिसकर्मियों की टीम और बीडीएस (BDS) अमले ने पूरी ट्रेन की तलाशी ली, पूरी तसल्ली करने के बाद ट्रेन को तीन घंटे बाद 3:58 मिनट पर यहां से रवाना किया गया।

यात्रियों को जानकारी मिली तो होश उड़े

12:58 मिनट पर प्लेटफार्म तीन पर आकर खड़ी हुई, तभी पुलिस जवानों ने कोच खाली कराना शुरू कर दिया, पहले यात्री मामले से अनजान थे, जब बम की खबर पता चली तो यात्रियों होश उड़ गये और अपना लगेज (Luggage) छोड़कर सारे यात्री दूसरे प्लेटफार्मों पर चले गए। जांच होने के बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली। पर्ची में जिस तरह की भाषा का उपयोग किया गया है, आशंका है कि किसी व्यक्ति ने सनसनी फैलाने या शरारत करने के उद्देश्य से पर्चियां डाली हैं, चलती ट्रेन में ही यह हरकत की गई है, जिससे रेलवे में हड़कंप मच गया। इसके पहले भी इटारसी में इस तरह की आधा दर्जन घटनाएं हो चुकी हैं, जिसमें मोबाइल (Mobile) पर ट्रेन को उड़ाने की धमकी दी गई है, हालांकि पर्ची फेंकने का मामला पहली दफा सामने आया है।

आला अफसर पहुंचे रेलवे स्टेशन

सिटी थाना, आरपीएफ एवं जीआरपी का फोर्स एसपी डॉ. गुरूकरन सिंह के नेतृत्व में सघन तलाशी में जुटा रहा। स्टेशन प्रबंधक देवेन्द्र सिंह चौहान, एसडीओपी महेन्द्र सिंह चौहान, टीआई रामसनेही चौहान, आरपीएफ इंचार्ज देवेन्द्र कुमार, बम निरोधक अमले के साथ खुफिया एजेंसियां भी मौके पर पहुंची। ट्रेन के टायलेट (Toilet) ) से लेकर गार्ड यान (Guard Vehicle), एसएलआर (SLR), इंजन (Engine), सारे कोच में रखे लगेज की जांच के बाद जब किसी भी तरह का संदिग्ध पदार्थ नहीं मिला, तब पुलिस ने राहत की सांस ली।

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!